चेन्नई: चार सदस्यीय गिरोह के हमले में गंभीर रूप से घायल हिंदू मुन्नानी के एक पदाधिकारी ने शहर के एक अस्पताल में दम तोड़ दिया. पुलिस ने गुरुवार को यह जानकारी दी.
हिंदू मुन्नानी तिरुवल्लूर के जिला अध्यक्ष सुरेश कुमार पर कल देर रात उपनगरीय अंबत्तूर में फोटोकॉपी की दुकान बंद करने के दौरान अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया.
पुलिस ने कहा कि उसे गंभीर हालत में तुरंत एक निजी अस्पताल ले जाया गया, लेकिन कुछ ही घंटों में इलाज का कोई जवाब नहीं मिलने पर उसकी मौत हो गई।
भाजपा तमिलनाडु इकाई के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री पोन राधाकृष्णन ने आज कुमार की हत्या की निंदा की और राज्य सरकार से दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया।
उन्होंने एक बयान में कहा, “यह एक रूटीन बन गया है कि हिंदू संगठनों के नेताओं की हत्या की जा रही है। यह घटना इसलिए हुई है क्योंकि पिछले साल ऑडिटर रमेश जैसे नेताओं की हत्या के लिए जिम्मेदार लोगों को दंडित करने के लिए कोई त्वरित कानूनी कार्रवाई नहीं की गई थी।”
उन्होंने कहा कि अगर इन अपराधों के असली दोषियों पर मामला दर्ज किया जाए और उन्हें सजा दी जाए, तभी इस तरह की हत्याओं को रोका जा सकता है।
कुमार के परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्होंने राज्य सरकार से इन अपराधों के वास्तविक अपराधियों की पहचान करने और अनुकरणीय दंड सुनिश्चित करने के लिए कहा क्योंकि इससे ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोका जा सकता है।
राज्य सरकार ने पिछले साल सलेम में रमेश की हत्या के बाद भाजपा और हिंदू संगठनों के नेताओं की हत्याओं की जांच के लिए एक विशेष जांच प्रभाग (एसआईडी) का गठन किया था। स्रोत: ज़ी न्यूज
पुलिस ने बताया कि इस बीच शहर के एक इलाके में आज सुबह उस समय तनाव व्याप्त हो गया जब कुछ लोगों ने सरकारी बसों पर कथित रूप से पथराव कर दिया जबकि कुमार के शव को पोस्टमार्टम के बाद उनके घर ले जाया जा रहा था।

Now Give Your Questions and Comments:

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.